भारत हुआ दुनिया के टॉप-10 कृषि निर्यातक देशों की लिस्‍ट में शामिल, चावल निर्यात में थाईलैंड को छोड़ा पीछे

नई दिल्‍ली। वर्ल्‍ड ट्रेड ऑर्गेनाइजेशन (WTO) द्वारा पिछले 25 वर्षों के दौरान वैश्विक कृषि व्‍यापार में रुझान पर जारी एक रिपोर्ट के मुताबिक चावल, कपास, सोयाबीन और मांस के निर्यात में एक बड़ी वृद्धि के साथ भारत 2019 में दुनिया के टॉप-10 कृषि उत्‍पाद निर्यातक देशों की लिस्‍ट में शामिल हो गया है। भारत और भारतीय किसानों के लिए यह एक अच्‍छी खबर है। 2019 में, वैश्विक कृषि निर्यात में भारत ने 3.1 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ नौवां स्‍थान हासिल किया है। इससे पहले इस स्‍थान पर न्‍यूजीलैंड था। इसी प्रकार मेक्सिको ने वैश्विक कृषि निर्यात में 3.4 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ 7वां स्‍थान हासिल किया है, जिस पर पहले मलेशिया था। 1995 में 22.2 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ टॉप-10 देशों की लिस्‍ट में पहले स्‍थान पर अमेरिका था। 2019 में यूरोपियन यूनियन ने 16.1 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ शीर्ष स्‍थान पर कब्‍जा जमाया है। 2019 में अमेरिका की हिस्‍सेदारी घटकर 13.8 प्रतिशत रह गई। ब्राजील ने तीसरे सबसे बड़े निर्यातक के रूप में अपना स्‍थान बरकरार रखा है। 1995 में इसकी हिस्‍सेदारी 4.8 प्रतिशत थी, जो 2019 में बढ़कर 7.8 प्रतिशत हो गई। चौथे स्‍थान पर चीन है, जिसकी हिस्‍सेदारी 5.4 प्रतिशत है। 1995 में चीन 4 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ छठवें स्‍थान पर था।    https://twitter.com/nstomar/status/1418504608389820420 1995 में शीर्ष चावल निर्यातकों में थाईलैंड (38 प्रतिशत), भारत (26 प्रतिशत) और अमेरिका (19 प्रतिशत) शामिल थे। 2019 में, भारत ने (33 प्रतिशत) ने थाईलैंड (20 प्रतिशत) को पीछे छोड़कर पहला स्‍थान हासिल किया है। वहीं वियतनाम (12 प्रतिशत) ने अमेरिका को पीछे कर तीसरे स्‍थान पर कब्‍जा किया है। 1995 और 2019 देानों रिपोर्ट में कुल निर्यात में टॉप-10 निर्यातक देशों की हिस्‍सेदारी 96 प्रतिशत से अधिक है।   भारत 2019 में तीसरा सबसे बड़ा कपास निर्यातक (7.6 प्रतिशत) और चौथा सबसे बड़ा आयातक (10 प्रतिशत) रहा। 1995 में भारत टॉप-10 देशों की लिस्‍ट में शामिल नहीं था। सबसे ज्‍यादा व्‍यापार वाले कृषि उत्‍पाद सोया बीन में भारत की हिस्‍सेदारी बहुत मामूली (0.1 प्रतिशत) है और यह दुनिया में नौवें स्‍थान पर है। मांस श्रेणी में, भारत 4 प्रतिशत हिस्‍सेदारी के साथ दुनिया में आठवें स्‍थान पर है। 1995 में भारत सातवां सबसे बड़ा गेहूं और मलमल निर्यातक देश था लेकिन 2019 में यह टॉप-10 लिस्‍ट में नहीं है। यह भी पढ़ें: Maruti Suzuki ने Nexa शोरूम से बेच डाली 14 लाख से ज्‍यादा कारें यह भी पढ़ें:  भारत ने फ्रांस, ब्रिटेन, कनाडा, नॉर्वे, फिनलैंड को छोड़ा पीछे यह भी पढ़ें: Bharti Airtel और Vodafone Idea को लगा जोर का झटका... यह भी पढ़ें: कोविड-19 वैक्‍सीन के बाद अब अदार पूनावाला देशवासियों को देंगे सस्‍ता लोन