वित्त मंत्रालय करेगा रेटिंग एजेंसी मूडीज के साथ बैठक, सॉवरेन रेटिंग में सुधार का करेगा आग्रह

नयी दिल्ली। वित्त मंत्रालय अगले सप्ताह वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज के प्रतिनिधियों के साथ बैठक में भारत की सॉवरेन रेटिंग में सुधार का आग्रह करेगा। मंत्रालय कोविड-19 महामारी के कारण बुरी तरह प्रभावित भारतीय अर्थव्यवस्था में उम्मीद से अधिक तेज गति के सुधार को देखते हुए अपनी बात रखेगा। सूत्रों ने बताया कि नियमित प्रक्रिया के तहत हर साल वैश्विक रेटिंग एजेंसियों के साथ मंत्रालय की बैठक होती है। कुछ महीने पहले फिच के साथ एक बैठक हुई थी और अब अगले सप्ताह मूडीज के प्रतिनिधियों के साथ मंत्रालय की बैठक होगी।  उन्होंने बताया कि इस बैठक में अर्थव्यवस्था की स्थिति में सुधार को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा किए गए विभिन्न सुधारों पर जानकारी दी जायेगी। इसके अलावा 28 सितंबर को होने वाली इस बैठक में वित्तीय घाटे और उधारी जैसे बजट अनुमान को पूरा करने के लिए देश की तैयारियों के बारे में भी भी विस्तार से जानकारी दी जायेगी। पिछले वर्ष मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने भारत की सॉवरेन रेटिंग को 'बीएए2' से घटाकर 'बीएए3' कर दिया था।  उसका कहना था कि निरंतर कम वृद्धि और बिगड़ती राजकोषीय स्थिति को देखते हुये जोखिम कम करने के लिए नीतियों के कार्यान्वयन में चुनौतियां होंगी। मूडीज ने नवंबर 2017 में 13 साल के अंतराल के बाद भारत की सॉवरेन क्रेडिट रेटिंग को एक पायदान बढ़ाकर बीएए3 से बीएए2 कर दिया था। बीएए3 सबसे निचला निवेश ग्रेड होता है।