भारत का नया रिकॉर्ड, विदेशी मुद्रा भंडार पहुंचा 612.73 अरब डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई पर

मुंबई: देशवासियों के लिए अच्छी खबर आई है जो देशवासियों के लिए गर्व की बात है। भारत ने अपना पूराना रिकॉर्ड तोड़ते हुए नया रिकार्ड बना दिया है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार 16 जुलाई 2021 को सप्ताह में 83.5 करोड़ डॉलर बढ़कर 612.73 अरब डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया। भारतीय रिजर्व बैंक के आंकड़े के मुताबिक नौ जुलाई को समाप्त इससे पिछले सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 1.883 अरब डॉलर बढ़कर 611.895 अरब डॉलर हो गया था। रिजर्व बैंक के साप्ताहिक आंकड़े के मुताबिक समीक्षाधीन सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि की वजह विदेशी मुद्रा संपत्तियों (एफसीए) में हुई बढ़ोतरी है जो समग्र भंडार का प्रमुख घटक है। इस दौरान एफसीए 46.3 करोड़ डॉलर की वृद्धि के साथ 568.784 अरब डॉलर हो गया। डॉलर के लिहाज से बतायी जाने वाली विदेशी मुद्रा संपत्तियों में विदेशी मुद्रा भंडार में रखी यूरो, पाउंड और येन जैसी दूसरी विदेशी मुद्राओं के मूल्य में वृद्धि या कमी का प्रभाव भी शामिल होता है। आंकड़े के मुताबिक इस दौरान स्वर्ण भंडार 37.7 करोड़ डॉलर की वृद्धि के साथ 37.333 अरब डॉलर हो गया। वहीं, अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष के पास मौजूद विशेष आहरण अधिकार (एसडीआर) 10 लाख डॉलर बढ़कर 1.548 अरब डॉलर हो गया। रिजर्व बैंक ने बताया कि आलोच्य सप्ताह के दौरान आईएमएफ के पास मौजूद भारत का विदेशीमुद्रा भंडार 70 लाख डॉलर घटकर 5.1 अरब डॉलर रह गया।